ओसीपी से निकलने वाले धुंआ को बंद करने की मांग करते हुए ग्रामीणों ने दिनभर ओसीपी का उत्पादन किया बंद

बंगाल मिरर, दलजीत सिंह, रानीगंज– ईसीएल के कुनुस्टोरिया एरिया अंतर्गत चलने वाली एगरा ग्राम पंचायत अंतर्गत मौजूद कोल गोडा ग्राम के महिला पुरुष ने बुधवार को ग्राम के समीप चलने वाले एगरा ओसीपी का ट्रांसपोर्टिंग एवं उत्पादन  कराते हुए विरोध प्रदर्शन किया ।ग्रामीणों ने बताया कि लगभग एक वर्ष से ओसीपी से निकलने वाले काला धुंवा के कारण उनका ग्राम में रहना मुश्किल हो जा रहा है। विषाक्त धुएं के कारण लोग बेहोश हो जा रहे हैं, वहीं धुआ निकलने के कारण अंचल में अंधेरा छाया रहता है।

riju advt

ग्रामीणों ने ओसीपी के मैनेजर का घेराव करते हुए कहा कि  अविलंब जहां जहां से दुआ निकल रही है, उस स्थान को पानी दे करके बंद करनी होगी। ग्रामीण अनीता बावरी ने बताया की बीते 2 दिन से व्यापक रूप से धुआं निकल रही है जिसके  ग्रामीणों का घर में रहना मुश्किल हो गई है। इसका समाधान के लिए बार-बार मैनेजर तथा एजेंट को कहने के बावजूद भी इसका उपाय नहीं किया जा रहा है। वहीं उन्होंने बताया कि  सिर्फ काला धुआ ही नहीं बल्कि कोयला निकालने के लिए जो विस्फोट किया जा रहा है विष्फोट के दौरान खदान से निकलने वाले पत्थर घरों में आकर गिर रहा है। इसका भी अविलंब व्यवस्था करनी होगी। खबर पाकर ओसीपी के  एजेंट ओम प्रकाश यादव ने बताया कि जिस स्थान से धुआं निकल रही है उस स्थान में शीघ्र ही मिट्टी भर कर धुंवा को बंद कर दिया जाएगा। वहीं उन्होंने बताया कि ग्रामीणों का कहना है कि धुंवा  निकलने वाले स्थान पर पानी देकर धुआं निकलने  को बंद कराया जाए, पर पानी से धुआं को निकलना बंद नहीं कराया सकता है क्योंकि पानी डालने से हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन दोनों अलग-अलग हो जाएगी जिसके कारण आज बुझेगी नहीं बल्कि आग और बढ़ेगी इस स्थिति को देखते हुए जिस स्थान से दुआ निकल रही है उस स्थान में ऑक्सीजन ना पहुंचे इसका एकमात्र उपाय मिट्टी देकर भराई करना है।

#####फोटो