1101 कुण्डीय विश्वशांति महायज्ञ नींघा में 21-22 को

बंगाल मिरर, आसनसोल ः अखिल भारतीय विहंगम योग संत समाज आसनसोल द्वारा 1101 कुण्डीय विश्वशांति वैदिक महायज्ञ का आयोजन आगामी 21 व 22 दिसंबर को नींघा स्थित महर्षि सदाफलदेव आश्रम में किया जायेगा। कल्ला में आय़ोजित प्रेस कांफ्रेंस में संस्था के अध्यक्ष विशिष्ट समाजसेवी कृष्णा प्रसाद ने बताया कि 21 की सुबह में अ अंकित श्वेत ध्वजारोहण एवं आसन प्राणायाम से इसकी शुरूआत होगी। दोपहर में भव्य शोभायात्रा निकाली जायेगी जो आसनसोल से शुरू होकर नींघा तक जायेगी। इसमें हजारों की तदाद में लोग शामिल होंगे। शाम में संत श्री विज्ञानदेव जी की दिव्यवाणी जय स्वर्वेद कथा होगी। अगले दिन यानि कि 22 दिसंबर को 1101 कुण्डीय यज्ञ होगा, प्रत्येक कुंड में पांच श्रद्धालु हवन करेंगे, जिससे पूरा वातावरण शुद्ध होगा। शाम 5 बजे संत श्री विज्ञानदेव जी की दिव्यवाणी जय स्वर्वेद कथा होगी। शाम 6 बजे सद्गुरु आचार्य स्वतंत्रदेव की अमृतवाणी श्रद्धालु श्रवण करेंगे।

riju advt

………...
गरीबों के लिए चिकित्सा, शिक्षा उपलब्ध कराना लक्ष्य ः कृष्णा प्रसाद
समाजसेवी कृष्णा प्रसाद ने कहा कि समाज के गरीबों के लिए बुनियादी सेवा उपलब्ध कराना ही उनका लक्ष्य है, माता-पिता के बताये आदर्शों पर चलकर ही वह समाजसेवा कर रहे हैं, उनका सपना गरीबों के लिए सस्ती चिकित्सा के लिए अस्पताल बनाना और स्कूल बनाना। इसके साथ खेलकूद के लिए प्रचार-प्रसार करना है।