कोरोना महामारी में मदद के बजाय राजनीति कर रहे विपक्षी दल

बंगाल मिरर,आसनसोल, राहुल तिवारी:  तृणमूल कांग्रेस जिलाध्यक्ष जितेन्द्र तिवारी एवं जिला चेयरमैन वी. शिवदासन दासू ने बुधवार को अग्निकन्या भवन में प्रेस कांफ्रेंस किया। इस दौरान उनदोनों ने भाजपा समेत अन्य विपक्षी दलों पर राज्य सरकार को बदनाम करने का आरोप लगाया।

riju advt

कोरोना महामारी के दौरान राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों में सहयोग करने के बजाय विपक्षी दल जनता को गुमराह करने के लिए मिथ्या प्रचार कर रहे हैं। जबकि भाजपा शासित या देश के अन्य राज्यों की तुलना में पश्चिम बंगाल में कोरोना के मरीजों एवं मृतकों की  संख्या कम है। वहीं य़हां जांच भी अन्य राज्यों की तुलना में कही अधिक हो रही है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बर्द्धमान जिले में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता हर स्तर पर लॉकडाउन के दौरान गरीबों की मदद के लिए सक्रिय रहे। जिले भर में 2 लाख से वंचित परिवारों को आवश्यक एवं खाद्य सामग्री का वितरण किया या। इनमें 65000 परिवार शामिल है। वहीं हेल्पलाइन पर 20 हजार से अधिक लोगों की चिकित्सा एवं अन्य तत्काल सहायता की गयी। 1200 छात्रो को राज्य में वापस लाया गया। 5 लाख से अधिक ग्रामीणों को कोरोना से बचाव के लिए जागरूक किया गया। मजदूरों के बीच मास्क वितरण किया गया। शहरी क्षेत्र के 150 वार्डों तथा पंचायतो के 320 गांवो में नियमित रूप से साफ-सफाई एवं अन्य कार्य किये गये। जिले के विभिन्न हिस्सों में  कम्यूनिटी किचन के माध्यम से गरीबों को लगातार भोजन उपलब्ध कराया गया। टीडीबी कालेज ने 1500 लीटर सैनिटाइजर उपलब्ध कराया। उनदोनों ने कहा कि आसनसोल के सांसद 2 लाख वोटों से जीतकर दिल्ली में अपना स्वास्थ्य ठीक करने में लगे रहे। प्रधानमंत्री को दिखाने के लिए कोलकाता तक आए लेकिन आसनसोल नहीं आ पाए। उन्हें घमंड हो गया है कि इस बार 2 लाख से जीते हैं, आसनसोल के लिए कुछ काम करें या न करें जनता फिर से चुनाव जीता ही देगी। लॉक़डाउन में गरीबों की मदद करने के बजाय टीएमसी द्वारा किये गये कार्यों पर सोशल मीडिया में घर बैठे उंगली उठाने में लगे रहे। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष अपने भतीजे को बचाने के प्रयास  में लगे हैं। बाबुल सुप्रियो ने जननेत्री ममता बनर्जी को बदनाम करने के लिए फर्जी फोटो भी वायरल किया। एक संदिग्द कोरोना संक्रमित की जानकारी सार्वजनिक कर उसे भी परेशानी में डाला।