ग्रामीण चिकित्सकों ने सोमवार को रानीगंज के सोनार बांग्ला होटल के हॉल में विभिन्न समस्याओं को लेकर एक संगोष्ठी का आयोजन किया

बंगाल मिरर, दलजीत सिंह, रानीगंज: रानीगंज  – शिल्पा अंचल के विभिन्न स्थानों से आए ग्रामीण चिकित्सकों ने रानीगंज में संगोष्ठी का आयोजन किया    l

riju advt

आरएमपीए  एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष अजीत मिश्रा एवं जिला सचिव शंभू यादव ने  कहा  कि विगत कई वर्षों से आपदा,  बाढ़ एवं अन्य मौसमों में लोगों को स्वास्थ्य सेवा देने के लिए हम लोग हमेशा तत्पर रहते हैं जबकि एक बड़ी आबादी की स्वास्थ्य समस्या का समाधान हम करते हैं ग्रामीण अंचलों में दुर्घटना में किसी के घायल होने पर उसका प्राथमिक उपचार भी करके उन्हें दूसरे शहरों में रेफर किया जाता है ग्रामीण चिकित्सक 24 घंटे इलाके के लोगों को स्वास्थ सुरक्षा देने के लिए तैयार रहते हैं फिर भी उन्हें झोलाछाप डॉक्टर कहा जाता है  l  एसोसिएशन के राज्य सदस्य गोबरा मित्रा, विजय यादव, अशोक साहू, बबलू सिंह,  पीएन सिंह आदिचिकित्सक का कहना है कि उन्हें    ग्रामीण चिकित्सक का दर्जा मिलना चाहिए इसमें राजनीतिक नेताओं को आगे आने की जरूरत है ग्रामीण चिकित्सकों का कहना है कि झोलाछाप कहकर उन्हें अपमानित किया जाता है तथा कानूनी  तलवार  भी उन पर हमेशा लटके  रहती है उन्होंने अपनी समस्या रानीगंज के एमबीबीएस एमडी चिकित्सक आरके सिंह के समक्ष रखी एवं उसे कहा कि हमारी समस्याओं को प्रशासनिक अधिकारी एवं आसनसोल कारपोरेशन एवं स्वास्थ्य विभाग को  बताई जाए ताकि हमें भी समाज में इज्जत के साथ रहने का अवसर मिले l डॉ आर के सिंह ने कहा कि आपदा,  बाढ़ आदि के समय में भी ग्रामीण क्षेत्र के चिकित्सक लोगों का प्राथमिक उपचार कर लोगों की जान बचाने में सहयोग करते हैं उन्हें झोलाछाप कह कर तिरस्कृत करने का जमाना चला गया है उनकी समस्याओं का समाधान करने के लिए हम लोग स्वास्थ्य विभाग से बातचीत करेंगे l इस मौके पर एसोसिएशन के अंडाल ब्लॉक के अध्यक्ष ए  कुमार, सचिव अशरफ अली, पांडेश्वर ब्लॉक के सचिव अनिल लाल, एसोसिएशन के आसनसोल के अध्यक्ष प्रेम प्रभाकर यादव,  सचिव विनोद महतो, जमुरिया के उत्तम ठाकुर,  शंकर मिश्रा,  जगदीश महतो, विनोद आरोही एवं अन्य कई स्थानों से आए ग्रामीण चिकित्सक संगोष्ठी में उपस्थित थे l