ASANSOL-BURNPUR

जानकी देवी धर्मशाला को बेचने का आरोप विरोध में पार्षद सहित स्थानीय लोगो ने लगाया ताला

बंगाल मिरर आसनसोल, राहुल तिवारी:

सुबह आसनसोल बाज़ार खुलते है ख़बर आई कि जानकी देवी धर्मशाला जो कि नया धर्मशाला के नाम से परिचित है उसे उसके मालिक ज ने जो जयपुर में रहता है उसने किसी को बेच दिया है, इसकी ख़बर स्थानीय पार्षद उमा सराफ के पास गई उन्होंने धर्मशाला में कार्यरत कर्मी से इस विषय मे जानकारी लेनी चाही लेकिन उक्त कर्मी को इस बेचने की कोई जानकारी नही थी

लोगो का आरोप है कि इस धर्मशाला में विवाह से लेकर धार्मिक और सामाजिक कार्य होते है हम लोग फिर कहा जायँगे पार्षद उमा सराफ ने स्थानीय लोगो की मदत से धर्मशाला को बंद करवा दिया और कहा कि यह धर्मशाला 1948 से आसनसोल में है इस तरह से कोई बिना जानकारी के कैसे किसी को बेच सकता है यह हम लोग नही होने देंगे मालिक सनजय केडिया जबतक यहा नही आते हमलोग इसे नही खुलने देंगे पार्षद से जब पूछा गया कि किसे बेची गई है यह धर्मशाला तो उनके पास भी कोई जानकारी नही थी फिलहाल जब तक मालिक पक्ष नही आता तब तक धर्मशाला बंद रहे गी।

5 thoughts on “जानकी देवी धर्मशाला को बेचने का आरोप विरोध में पार्षद सहित स्थानीय लोगो ने लगाया ताला

  • Aastha ko todne ka kaam band hona chahea.Administration ko kathor kadam uthana chahea.Samajik bhaichara ko todne ka kaam band hona chahea.

  • Agar yeh Sahi hai to bahut galat bhat hai

  • This is never be true. Nobody can't sell dhramasala.

  • गलत खबर कोई धर्मशाला का बिक्री नहीं हुआ है। मालिक पक्ष से बात किया गया उनहोंने बताया किसी को भी धर्मशाला नहीं बेचा गया है।

Comments are closed.