सिंघारण नदी की सफाई के लिए किया गया निरीक्षण

बंगाल मिरर, दलजीत सिंह,जामुड़िया। सिंघारण नदी की सफाई की जांच के लिए गठित टीम ने आज जामुड़िया इंडस्ट्रियल एस्टेट से होकर बहने वाले जोड़ से लेकर सिंघारण नदी तक का अवलोकन किया। जोड़ जिस कारखाने के अंदर से होकर गई है उस कारखाने के अंदर से लेकर जोड़ के बगल वाले कारखाने तक पूरी तरह से जायजा लिया गया और सभी कारखाना प्रबंधकों को जल्द से जल्द जोड़ एवं सिंघारण नदी की सफाई का निर्देश भी दिया गया। टीम में जामुड़िया बी डी ओ कृशानु राय, जामुड़िया थाना कार्य प्रभारी रंजीत बिस्वास, पश्चिम बंग प्रदूषण नियंत्रण परिषद से अंजन फौजदार, जामुड़िया भूमि राजस्व अधिकारी गुलाम मिर्ज़ा के अलावा जामुड़िया चैम्बर के अध्यक्ष जयप्रकाश डोकानिया, सचिव अजय कुमार खैतान के अलावा श्याम सेल एन्ड पावर लिमिटेड से आलोक मिश्रा, गगन फेरोटेक से निरंजन गौरिसरिया, ज्वेल बनर्जी, मान स्टील एन्ड पावर लिमिटेड से हितेश परमार, आर ए आई सी इंटीग्रेटेड स्टील प्राइवेट लिमिटेड से शरद सराफ, सत्यम स्मेल्टर्स प्राइवेट लिमिटेड से मनोज अग्रवाल, राजश्री आयरन एन्ड स्टील प्राइवेट लिमिटेड से मुकेश शर्मा, सुपर स्मेल्टर्स लिमिटेड से अनिल बर्मा, कुंज बिहारी स्टील्स प्राइवेट लिमिटेड एवम शिवम धातु उद्योग से  से बनर्जी बाबूआदि थे।

riju advt

टीम ने सुपर स्मेल्टर्स लिमिटेड कारखाने के पीछे से जोड़ का निरीक्षण किया साथ ही साथ उसके पीछे के रास्ते का भी निरीक्षण किया। इसके बाद विभिन्न कारखाने के अंदर से और कारखाने के बाहर से भी जोड़ की स्थिति को देखा गया। ज्ञात रहे कि सिंघारण नदी का मुद्दा पिछले वर्ष स्थानीय विधायक जहाँआरा खान ने विधान सभा मे उठाया था और तब से मुख्यमंत्री कार्यालय से इसको जिला प्रशासन को भेज दिया गया था और इसके बाद तत्कालीन जिलाधिकारी शशांक सेठी के निर्देश पर सदर महकमा शासक देबजीत गांगुली ने जामुड़िया चैम्बर ऑफ कॉमर्स एन्ड इंडस्ट्रीज तथा कारखाना प्रबंधन को लेकर एक बैठक की थी और एक कमिटी भी सिंघारण नदी की देख रेख के लिए बनाई गई थी। बाद में इस कमिटी की देखरेख में सिंघारन नदी की सफाई जामुड़िया चैम्बर ने सभी कारखाना प्रबंधन के साथ मिलकर करवाई थी और स्वयं माननीय मुख्य मंत्री ममता बनर्जी ने दुर्गापुर में पश्चिम बर्धमान जिला की रिव्यु मीटिंग में जामुड़िया चैम्बर को धन्यवाद भी दिया था।