DURGAPURराजनीति

राम का नाम लेकर रावणराज चला रही भाजपा, जिले के स्टेशनों पर टीएमसी का धरना-प्रदर्शन

बंगाल मिरर, सौरदीप्त सेनगुप्ता, दुर्गापुर ः रेलवे के निजीकरण, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि तथा केन्द्र सरकार की नीतियों के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के निर्देश पर पश्चिम बर्द्धमान जिले के विभिन्न हिस्सों में लगातार आन्दोलन किया जा रहा है। मंगलवार को वारिया स्टेशन के निकट तृणमूल कांग्रेसस द्वारा धरना-प्रदर्शन किया गया। यहां मुख्य वक्ता तृणमूल कांग्रेस जिलाध्यक्ष सह आसनसोल के मेयर जितेन्द्र तिवारी ने कहा कि नगरनिगम में जब हम लोग कोई काम खुद नहीं कर पाते हैं, तो उसे ठेकेदार के माध्यम से कराते है। आज कभी रेल, कोलियरी, सेल को निजी कंपनियों को दिया जा रहा है, इसका मतलब है कि प्रधानमंत्री इन कंपनियों को नहीं चला पा रहे हैं। कोल इंडिया में 100 फीसदी विदेशी निवेश क्यों किया जा रहा है।

अगर इसे नहीं चला पा रहे हैं तो कोयला मंत्री इस्तीफा दें दे। सरकार कंपनियों को निजी हाथों में देने के बजाय सरकार के मंत्रियों को इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जिन सरकारी कंपनियों को निजीकरण कर रहे हैं, उसमें से क्या एक भी कंपनी या संस्था को उन्होंने तैयार किया है। आप आजादी के बाद जिनपर आरोप लगा रहे हैं, उन्हीं लोगों ने तैयार किया था। एक के बाद एक सरकारी  कंपनियां भाजपा के पैसे से नहीं बल्कि जनता के पैसे से बनी थी। पहले की सरकारों ने इसे बनाया था और आप इन्हें बेच रहे हैं। बेचना है तो दिल्ली में जो आपने हजारों करोड़ से भाजपा कार्यालय बनाया है, उसे बेचिए। आपने अडानी, अंबानी, चोकसी, नीरव मोदी बनाया है, उनपर कार्रवाई कीजिए। आपने जिसे बनाया नहीं उसे आप बेचेंगे तो जनता कैसे स्वीकार करेगी। उन्होंने कहा कि रावण के राज्य में पेट्रोल 51 रुपये और रामराज्य में 82 रुपया है, राम का नम लेकर यहीं रावण राज चालू तो नहीं कर दिया है। बाहर में मार्केटिंग के लिए राम का नाम ले रहे हैं, लेकिन काम रावण वाला कर रहे हैं। यह सब जनता के पैसे से बनी है, जरूरत पड़ी तो जनता आपको हटा देगी। सरकारी कंपनियों को बेचना किसी तरह से स्वीकार नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि दीदी के नेतृत्व में बंगाल की अस्मिता की रक्षा के लिए हमलोग लड़ाई लड़ते रहेंगे। बंगाल की ओर जो भी आंख उठाकर देखेगा हम उसे काला चश्मा पहना देंगे। इस दौरान दुर्गापुर के मेयर दिलीप अगस्ती, एमआइसी प्रभात चटर्जी, राखी तिवारी, पवित्र चटर्जी आदि मौजूद थे।