कुल्टी के भाजपा कार्यकर्ताओं को मिली जमानत

बंगाल मिरर, विकास प्रसाद, सांकतोड़िया 16 जुलाई : प्रदेश भाजपा के निर्देश पर बीते 16 मई को सांकतोड़िया फांडी में इलाके में अवैध शराब बिक्री के विरुद्ध डेपुटेशन देने गई भाजपा महिला मंडल के सदस्यों पर दर्ज की गई केस मामले में गुरुवार को कोट द्वारा सभी को बेल दे दिया गया। इनमे कुल्टी भाजपा आईटी सेल के आकाश चौहान, मिथुन दास तथा भाजपा कर्मी पवन सिंह भी शामिल थे। इससे खुशी जाहिर करते हुए महिला मंडल तथा भाजपा के सुब्रत मिश्रा ने अदालत को धन्यवाद देकर आभार जताया।
उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दौरान प्रदेश भाजपा के निर्देश पर 16 मई को राज्य के सभी थानों और फांडियों
पर अवैध शराब की बिक्री के विरुद्ध डेपुटेशन कार्यक्रम निर्धारित किया गया था। इसी के आधार पर भाजपा महिला मंडल की ओर से कुल्टी महिला मंडल की अध्यक्ष शिल्पी राय के नेतृत्व में महिलाएं सांकतोड़िया फांडी में
डेपुटेशन देने पहुंची थी। आरोप है कि उन्हें हैरान परेशान किया गया तथा डिजास्टर मैनेजमेंट की धारा 188 के तहत उन पर मामला दर्ज कर दिया गया।
अदालत से बेल मिलने के बाद कुल्टी विधानसभा भाजपा संयोजक राजेश सिन्हा ने खुशी जाहिर की और कहा कि यह है बंगाल की सरकार। जहां लोकतंत्र नाम की कोई चीज नहीं है। कहा सभी डब्लू एच ओ का नियम मानकर ही सोशल डिस्टेंसिंग आदि को बनाए रखते हुए फांडी में डेपुटेशन देने पहुंचे थे। पर यहां की पुलिस राजनीति में लिप्त होकर सभी पर मामला दर्ज कर दिया। बंगाल के लिए इससे बड़ा दुर्भाग्य कुछ भी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अगर आने वाले दिनों में बंगाल को सोनार बांग्ला बनाना चाहते हैं तो भाजपा को लाना होगा।
इधर आसनसोल जिला भाजपा के उपाध्यक्ष सुब्रत मिश्रा ने भी पुलिस पर दलीय राजनीति से प्रेरित होने का आरोप लगाया। कहा कि कोरोना के मद्देनजर विश्व स्वास्थ्य संगठन के नियमों के अनुसार ही प्रदेश भाजपा के निर्देश पर कुल्टी महिला मंडल की अध्यक्ष शिल्पी राय के नेतृत्व में सभी डेपुटेशन देने पहुंचे थे। इनमें कई उम्र दराज महिलाएं भी शामिल हैं, लेकिन पुलिस ने परेशान किया, उनपर मामला दर्ज कर दिया। अपने अधिकारों के तहत ही डेपुटेशन दे रहे लोगों पर मामला दर्ज किया जा रहा है। इससे समझा जा सकता है कि बंगाल की राजनीति कहां पहुंची है। यहां लोकतंत्र नाम की कोई चीज है ही नहीं है।

riju advt

bjp