ASANSOL

अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें, मतदान हमारा संवैधानिक अधिकार : साहित्यकार सृंजय

एक साहित्यकार और ज़िम्मेदार नागरिक की हैसियत से लोकप्रिय समाचार पोर्टल बेंगाल मिरर के माध्यम से मैं अपने संसदीय क्षेत्र आसनसोल के सभी मतदाताओं से, विशेषकर हिन्दीभाषी मतदाताओं से अपील करता हूँ कि वे आज अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। मतदान हमारा संवैधानिक अधिकार है, साथ-ही-साथ मतदान करना हमारा राष्ट्रीय कर्तव्य भी है। मतदान के द्वारा ही हमारी सामूहिक इच्छा की अभिव्यक्ति होती है कि हम कैसी सरकार और कैसी शासन-व्यवस्था चाहते हैं। हमारे पूर्वजों ने इसके लिए काफ़ी संघर्ष किया है, बलिदान किया है, तब जाकर हमें लम्बे विदेशी दासत्व से मुक्ति मिली थी और हम प्रजा से स्वतन्त्र भारत के नागरिक बन पाये थे, हमने अपना संविधान बनाया था और ऐसी व्यवस्था बनायी थी कि हमारे मतों द्वारा चुनी हुई सरकार इसी संविधान के अनुसार सरकार चलाये‌। यदि हम आलस्य या अनिच्छा के चलते मतदान नहीं करेंगे, तो नैतिक रूप से स्वयं को भारत का नागरिक होने का गौरव खो बैठेंगे।
इसलिए हम स्वतःप्रेरणा से स्वयं मतदान केंद्र तक जाकर मतदान अवश्य करें और अन्य लोगों को भी प्रेरित करें।
~साहित्यकार सृंजय

Leave a Reply