RANIGANJ-JAMURIA

बिजली न होने से भड़के ग्रामीण, मतदान केन्द्र का जेनरेटर रोका

बंगाल मिरर, जामुड़िया : इलाके में बिजली नहीं है, इसलिए मतदानकर्मियों को भी हमारी तरह परेशानी में रहकर मतदान का कार्य कर कष्ट को समझना होगा इसी मांग को लेकर रविवार को जामुड़िया ब्लॉक नंबर 2 के तपसी ग्राम पंचायत क्षेत्र के जानबाजार आदिवासी मोहल्ले की सैकड़ों महिलाओं ने मतदान कर्मियों के लिए लाए गए जनरेटर को मतदान केंद्र से उतारे बिना ही वापस कर दिया. रविवार को ऐसी ही एक घटना के बाद तपसी के जानबाजार इलाके में स्थित जानबाजार आदिवासी अवैतनिक प्राथमिक विद्यालय से सटे इलाके में काफी तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई. यहां बूथ नंबर 243 है और उस बूथ पर इस बार आसनसोल लोकसभा चुनाव से पहले जब मतदानकर्मी बूथ पर पहुंचे तो विरोध करते हुए उनके साथ आए जेनरेटर को ग्रामीणों नो रोक दिया.

ग्रामीणों का दावा है कि करीब तीन दशक से इस हिस्से में बिजली का पोल आ जाने के बावजूद राज्य की बिजली सेवा नहीं पहुंची है. वहीं ईसीएल की लो वोल्टेज बिजली आपूर्ति व्यवस्था के कारण सभी को परेशानी होती है। जिसके बारे में स्थानीय लोगों का दावा है कि वह बिजली लगभग न के बराबर है, और क्षेत्र की कई सैकड़ों महिलाओं का दावा है कि क्षेत्र में बिजली बोर्ड के विद्युतीकरण की बार-बार मांग के बावजूद, कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इस दिन पंचायत प्रधान वीणापाणि बाउरी प्रदर्शनकारियों में शामिल हो गये, उन्होंने दावा किया कि प्रदर्शनकारियों की मांगें उचित थीं, इसलिए वे भी उनके साथ शामिल हो गये।

हालांकि, उन्होंने अपने बयान में यह भी दावा किया कि बिजली विभाग को बार-बार इस मामले की सूचना देने के बावजूद कोई काम नहीं किया गया, जिसके परिणामस्वरूप ऐसी स्थिति पैदा हुई. इस संबंध में स्थानीय निवासी एवं पंचायत समिति कार्यकारी जगननाथ ने मांग की है कि चुनाव के बाद जल्द ही समस्या का समाधान निकाला जायेगा. हालाँकि, इन सभी विरोधों के कारण उस बूथ पर जनरेटर लाने की कोई पहल नहीं की गई है। किसी भी तनावपूर्ण स्थिति से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन के साथ-साथ केंद्रीय बल भी मौके पर पहुंचा और किसी तरह से मामले को शांतकराया।

Leave a Reply