उर्दू कॉलेज नहीं मिला तो आसनसोल उत्तर से एआइएमआइएम के टिकट पर चुनाव लड़ूंगा ः नसीम अंसारी

बंगाल मिरर, आसनसोल ः तृणमूल कांग्रेस के वार्ड 25 के पार्षद हाजी नसीम अंसारी ने टीएमसी सुुप्रीमो ममता बनर्जी के उलट असादुद्दीन ओवैसी को मुसलमानों का रहनुमा बताते हुए कहा कि  2021 विधानसभा चुनाव से पहले रेलपार में उर्दू कॉलेज नहीं खुला तो आसनसोल उत्तर से एआइएमआइएम के टिकट से मैं खुद चुनाव लड़ूंगा। 

riju advt

उन्होंने कहा कि 2016 में आसनसोल उत्तर विधानसभा में उर्दू कॉलेज खोलने की घोषणा की गयी, मंत्री मलय घटक ने कहा था कि एपीजे अब्दुल कलाम के नाम से 2017 में उर्दू कालेज शुरू होगा तथा गर्ल्स हॉस्टल भी बनेगा। लेकिन आज वर्षों बीतने के बाद भी कुछ नहीं हुआ, यहां की बच्चियों को पढ़ाई के लिए झारखंड जाना पड़ता है। जिसे देखकर काफी दुख होता है। उन्होंने कहा कि अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने पर देश के तमाम राजनेता चुप रहे, लेकिन मुसलमानों के हक में सिर्फ असादुद्दीन ओवैसी ने मुंह खोला, जब कभी इतिहास लिखा जायेगा तो इसमें उनका जिक्र जरूर रहेगा कि उन्होंने चुपचाप रहने के बजाय अपने हक के लिए आवाज उठायी। अपना हक मिले या न मिलने यह बाद की बात है लेकिन इसके लिए आवाज उठाना जरूरी है। कुर्सी के लिए अन्याय का समर्थन नहीं कर सकता, मुझे आनेवाली पीढ़ी को भी जवाब देना होगा। मुसलमानों को सिर्फ वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करना नहीं चलेगा।