रानीगंज की धरती हुई श्याममय

बंगाल मिरर, दलजीत सिंह,रानीगंज– बीते वर्ष की भांति इस वर्ष भी श्री श्याम बाल मंडल रानीगंज द्वारा 35 वां श्री श्याम अरदास महोत्सव का आयोजन गुरुवार प्रातः भव्य निशान शोभायात्रा के साथ आरंभ हुई। यह निशान यात्रा सी आर रोड स्थित श्री सीताराम जी मंदिर से आरंभ हुई ,जो मारवाड़ी पट्टी, बड़ा बाजार, दाल पट्टी, शिशु बागान होते हुए अमृत कुंज आश्रम के समीप निर्माणाधीन श्री श्याम मंदिर के पास पहुंचकर समाप्त हुई ।

riju advt

गुरुवार लगभग 5 घंटों तक चली  निशान शोभायात्रा में रानीगंज की धरती श्याम मय में परिणित हो गई। राजस्थान के खाटू वाले धाम में यह शहर उस वक्त परिणित हो गई, जब एक और श्री श्याम राधा की अलौकिक झांकी इस शोभा यात्रा को चार चांद लगा रहे थे। भगवान श्री हनुमान, भोलेनाथ के झांकी के साथ साथ राजस्थान से मंगाए गए घोड़े तथा ऊंट इस शोभा यात्रा का मुख्य आकर्षण केंद्र थे। शोभा यात्रा के दौरान निशान यात्रा के दौरान 201 महिला पुरुष हाथों में श्री श्याम प्रभु के निशान लिए हुए थे ।

लगभग 500 सो महिलाएं तथा काफी संख्या में पुरुष भक्तगण उपस्थित थे। राजस्थान के भजन कलाकार देवेश पारीक जहां अपने भजनों से वातावरण को श्री श्याम श्याम रंग में भक्तों को झूमने पर मजबूर कर रहे थे। वहीं भक्तगण एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर आनंद मग्न हो रहे थे। शोभा यात्रा के दौरान श्याम भक्त पवन केजरीवाल ने बताया कि बीते 35 वर्षों से श्री बाल श्याम बाल मंडल रानीगंज द्वारा श्री श्याम अरदास महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें सिर्फ रानीगंज ही नहीं बल्कि आसपास के अंचल के भक्तगण का आगमन होता है। सारा दिन व्यापी इस कार्यक्रम कि संध्या निर्माणाधीन श्याम मंदिर में  बाबा के लाडले संजय मित्तल भजनों की प्रस्तुती करेंगे ।यह कार्यक्रम राजस्थान के हिसार श्री कुलभूषण जी शर्मा ,हजारी मल सैनी सूरजगढ़, संतोष भाई जी नरसिंह धाम बालाजी धाम बर्नपुर के सानिध्य में की जा रही है।इस अवसर पर  श्याम प्रभु की मनमोहक श्रृंगार ,छप्पन भोग, श्याम रसोई एवं महाआरती के साथ इस कार्यक्रम का समापन होगा। उन्होंने बताया कि श्याम बाबा को सच्चे मन से याद करने वालो की मनोकामना अवश्य पूरी होती है।  संस्था के सदस्य विनोद बंसल ने बताया जीवन के सारे कार्य में श्याम बाबा को साझेदार बना लो, जीवन की नैया भव पार लग जाएगी ।