कोल इंडिया के निजीकरण के विरोध में सालानपुर एरिया कार्यालय पर तृणमूल का धरना

विधायक बिधान उपाध्याय के नेतृत्व में कार्यकर्ता हुए शामिल

riju advt

बंगाल मिरर, रिक्की बाल्मीकि, सालानपुर : भारतीय राष्ट्रीय तृणमूल ट्रेड यूनियन कांग्रेस के श्रमिक संगठन केकेएससी के तत्वधान से बाराबनी विधायक बिधान उपाध्याय की उपस्थिति में सालानपुर ईसीएल मुख्यालय के सामने गुरुवार सुबह कोल् इंडिया के निजीकरण और कोल् ब्लॉक की नीलामी के विरुद्ध प्रदर्शन किया गया। कोयला खदान श्रमिक संगठन द्वारा एक लिखित ज्ञापन सालानपुर ईसीएल क्षेत्रीय कार्मिक प्रबन्धक एमएम साधुखान को सौंपा गया। जिसमे सात सूत्री मांगे थी साथ ही विभिन्न कोलियरी से सटे क्षेत्रो के विकास ईसीएल के सीएसआर कोष से हो इसकी मांग की गई।बाराबनी के विधायक बिधान उपाध्याय ने कहा तृणमूल कांग्रेस नेत्री माननीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा रेलवे एंव कोल इंडिया के निजीकरण के केन्द्र सरकार की गलत नीति के खिलाफ खड़ी है। 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद एक एक सरकारी कारखानों का निजीकरण किये जा रहे है. भारत का हर एक नागरिक जानता है कि केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमत में वृद्धि की जा रही है। ईसीएल सालानपुर बाराबानी क्षेत्र से कोयला उत्पादन कर रही है, लेकिन वे क्षेत्र के विकास के लिए कुछ नहीं कर रही हैं।

धरना में शामिल विधायक एवं अन्य नेता

बाराबनी ब्लॉक तृणमूल कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष और जिला परिषद सदस्य असित सिंह, सलानपुर ब्लॉक तृणमूल कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष मोहम्मद अरमान, जिला परिषद सदस्य कैलाशपति मंडल, सालानपुर ब्लॉक तृणमूल कांग्रेस के महासचिव भोला सिंह, सालानपुर पंचायत समिति अध्यक्ष फाल्गुनी कर्मकार घासी, बाराबनी पंचायत समिति अध्यक्ष माला बाउरी,दिनेश लाल श्रीवास्तव, कोयला श्रमिक संघ के नेता, केकेएससी एरिया सचिव डी बबलू पाल ट्रेड यूनियन नेता, बाराबनी पंचायत प्रधान और भारी संख्या में श्रमिक और तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे