2021 में पूर्ण बहुमत के साथ तृकां आयेगी सत्ता में ः कर्नल दीप्तांशु

riju advt

बंगाल मिरर, धनंजय तिवारी, जामुडिया: तृणमूल युवा कांग्रेस जामुडिया ब्लॉक 2 की ओर से तपसी में आयोजित रक्तदान शिविर का उद्घाटन तृणमूल कांग्रेस के जिला पर्यवेक्षक कर्नल दीप्तांशु चौधरी और तृणमूल कांग्रेस जिला अध्यक्ष का आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी ने संयुक्त रूप से किया। इस मौके पर मेयर जितेंद्र तिवारी ने कहा कि टीवी पर भाजपा नेता कहते हैं कि 2021 में सत्ता में आना है, जनता की सेवा कर रहे हैं । 2 महीने में देखा गया कि पूरे जिले में 200 रक्तदान शिविर हमारे कार्यकर्ताओं ने किया है। भाजपा को वोट जीतना है तो कब से कम 201 रक्तदान करना चाहिए। मुझे आज तक सूचना नहीं है कि भाजपा ने इस दौरान कहीं रक्तदान किया है, हमलोग जो रक्तदान कर रहे हैं अस्पताल में भर्ती होने वाले जिन मरीजों को रक्त की जरूरत है उनके काम आता है। जिन्हें रक्त दिया जा रहा है, उसमें काफी बीजेपी समर्थक भी हो सकते हैं, टीएमसी कार्यकर्ता अपना खून दे रहे हैं, यह रक्त सीपीएम समर्थक, बीजेपी को भी दिया जा रहा है,तृणमूल कार्यकर्ताओं का रक्त भाजपा के लोगों को नहीं दिया जाएगा ऐसा हमलोग नहीं कह रहे, भाजपा के लोग लेने के समय लाइन में सबसे पहले खड़े रह रहे हैं और देने के समय सिर्फ भाषण दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिले में जहां जहां हमारे विधायक नहीं है वहां दीदी के निर्देश पर कर्नल साहब जा रहे हैं। दीदी को भी पता था कि संकट के दौरान तृणमूल को छोड़कर कोई जनता के काम नहीं आएगा इसलिए रानीगंज जमुरिया एवं दुर्गापुर पूर्व के विशेष निगरानी की जिम्मेदारी कर्नल साहब को दी। इसलिए वह लगातार यहां आ रहे हैं। कर्नल दीप्तांशु चौधरी ने कहा कि रक्तदान शिविर के आयोजन में पश्चिम बर्द्धमान जिला राज्य में पहले स्थान पर है, बीते 4 महीने के दौरान अन्य राजनीतिक दल के लोग इसे एक साधारण काम समझ रहे हैं । लेकिन इसकी अहमियत उससे पूछिए जब जरूरत पर उसे रक्त मिलता है। जो लोग तृणमूल को दिल से प्यार करते हैं, वह यहां रक्त दे रहे हैं । यह रक्त बहुत लोगों की जिंदगी बचा रहा है । रक्त की कोई जाति धर्म या रंग नहीं है, तृणमूल के सैनिक रक्तदान कर लोगों का जीवन दान दे रहे हैं। इस संकट में डॉक्टर, चिकित्सा कर्मी पहले मोर्चे पर लड़ाई कर रहे हैं ।रक्तदान के दौरान बड़े या धनी लोगों को नहीं देखा जाता है अधिकांश गरीब लोग ही रख देते हैं । उन्होंने कहा कि 4 महीने में यहां के सांसद या विधायक जनता के पास संकट के दौरान देखा नहीं गया, यह सच है कि जब संकट आता है बिना भेदभाव के लोगों के सेवा तृणमूल कांग्रेस के सैनिक कर रहे है इससे बड़ा कोई सामाजिक कार्य नहीं हो सकता है । चुनाव के पहले धर्म के नाम पर विभाजन कर झूठा सपना दिखाकर कुछ लोग वोट लेने आते हैं । चुनाव में जीत कर वह लोग चले जाते हैं इसके बाद उन्हें देखने को भी नहीं मिलता है। बाबुल सुप्रियो 2014 और 2019 में सिर्फ वोट के समय देखे गए जिस तरह दीपावली के समय कुछ कीड़े आते हैं और दिवाली के बाद गायब हो जाते हैं, ठीक उसी तरह चुनाव के बाद वह भी गायब हो गए हैं । इसलिए लोग समझे कि झूठे आश्वासन और झूठे लोगों से सावधान रहें । सुबह से वह लोग बंगाल में अशांति फैलाने लोगों को मारने की धमकी दे रहे हैं वही दीदी के लोग रक्त देखकर लोगों की जिंदगी बचा रहे हैं। 2021 में तृणमूल कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। इसलिए यह शपथ ले कि 2021 में जामुडिया विधानसभा सीट हम लोग दीदी को उपहार में देंगे इसके लिए जनता के पास जाकर वास्तविकता से अवगत कराएं।