राजनीतिक विरोध हो, व्यक्तिगत शत्रुता नहीं : जितेन्द्र

बैद्यनाथपुर में तृणमूल छात्र परिषद के कार्यालय का उद्घाटन किया जितेंद्र तिवारी ने

बंगाल मिरर, धनंजय तिवारी, पांडेश्वर । पांडेश्वर विधानसभा क्षेत्र के बैद्यनाथपुर में तृणमूल छात्र परिषद के कार्यालय का उद्घाटन विधायक सह तृणमूल कांग्रेस जिला अध्यक्ष जितेंद्र तिवारी ने शनिवार की शाम किया। इस मौके पर जरूरतमंद महिलाओं के के बीच साड़ी वितरण भी किया गया ।

इस मौके पर विधायक जितेंद्र तिवारी ने कहा कि छात्र संगठन का कार्यालय होना अच्छी बात है, इसके लिए छात्रों की पूरी टीम बधाई की पात्र है । उन्होंने कहा कि छात्र संगठन के कार्यालय और राजनीतिक कार्यालय में काफी अंतर होता है । राजनीतिक कार्यालय को लेकर विरोधी दल के लोगों में विरोध का भाव अधिक होता है । इसलिए वह छात्रों से अनुरोध करेंगे कि छात्र संगठन में जो विरोधी दल की मानसिकता वाले छात्र हैं तो उनके प्रति अत्यधिक तीव्र विरोध का मनोभाव ना रखें।

riju advt

क्योंकि वह नए-नए राजनीति में आए हैं अगर उनके प्रति विरोध का मनोभाव तैयार होता है तो छात्रों में विभाजन हो जाएगा। तृणमूल छात्र परिषद से जो भी जुड़े हैं वह कांग्रेस, सीपीएम या बीजेपी के छात्र संगठनों से जुड़े लोगों को अपना दुश्मन नहीं समझे । हमलोग अपने तर्क के माध्यम से उन्हें समझाएंगे कि वह हमारे साथ आये, जिस दिन वह समझ जाएंगे कि हमलोग सही हैं तो वह खुद हमारे साथ आ जाएंगे अगर किसी कारणवश वह हमारे साथ नहीं आते हैं, तो हम उन्हें अपना शत्रु ना समझे । राजनीतिक विरोध हो सकता है लेकिन व्यक्तिगत शत्रुता नहीं होनी चाहिए। इससे समाज में अशांति का माहौल तैयार होगा।

पांडेश्वर में सुख शांति बनाए रखना मेरी जिम्मेदारी

पांडेश्वर के विधायक होने के नाते मेरी यह जिम्मेदारी है कि सुख और शांति बनी रहे । उन्होंने कहा कि समाज में शांति लाने के लिए ऐसा नहीं है कि तृणमूल के लोग शांति से रहें और अन्य लोग अशांति में रहे ऐसा नहीं होना चाहिए । जो आज भी खुद को विरोधी समझते हैं उनकी आंखों में आंसू ना आएं यह देखने की जिम्मेदारी भी मेरी है। यहा चार बूथ की जरूरतमंद महिलाओं के बीच वस्त्र दिया जा रहा है। धीरे-धीरे इस अंचल के सभी बूथ में महिलाओं को वस्त्र दिया जाएगा । आप लोग हमारे परिवार के सदस्य हैं आपके प्यार के ही कारण ईश्वर ने हमें इतनी शक्ति दी है कि हम लोग आपकी सेवा कर सके। आप यह ग्रहण कर रहे हैं यही हमारे लिए सौभाग्य की बात है।