घाघरबूढ़ी मंदिर मरम्मत कार्य 4 तक शुरू न हुआ तो खुद कराउंगा : कृष्णा प्रसाद

बंगाल मिरर आसनसोल : आसनसोल के विशिष्ट सामजसेवी सह व्यवसायी कृष्णा प्रसाद ने बुधवार को मां घाघरबुढ़ी मंदिर में मां की पूजा अर्चना कर आशीर्वाद लिया। इस दौरान पत्रकारों से कहा कि बीते 30 सितम्बर को आसनसोल में गुलाब चक्रवात  ने पूरे शिल्पांचल में तबाही मचा दिया था, जिसमें मां घाघरबुढ़ी मंदिर भी प्रभावित हुआ था। मंदिर की बदहाल अवस्था देखकर उन्होंने कहा कि आपदा के दो महीने बीत जाने के बाद भी निगम प्रशासन ने मंदिर के लिए कुछ नहीं किया।

उन्होंने कहा कि मां घाघरबुढ़ी मंदीर एक देवस्थल है। इसकी बदहाल अवस्था को ठीक करने के लिए निगम की ओर मरम्मत की बात कही गई थी। वहीं आज तक इसे लेकर कोई पहल होता नहीं दिख रहा है। उन्होंने कहा कि सभी समस्याओं का सामाधान सरकार नहीं करती है। सरकारी कामकाज में विलंब होता है। शिल्पांचल की प्रमुख मां घाघरबुढ़ी मंदिर आस्था स्थल है। वहीं घाघरबुढ़ी मंदिर बदहाल अवस्था में है। मंदिर में पूजा करने आने वाले श्रद्धालु अपनी जान जोखिम में डाल कर पूजा करते है। किसी दिन कोइ अनहोनी हो जाने से इसका दायित्व कौन लेगा। कृष्णा प्रसाद ने कहा कि 4 दिसंबर तक निगम प्रशासन अगर इस मंदिर की मरम्मत कार्य का शुभारंभ नहीं करता है तो तो वे अपने स्तर से मंदिर की मरम्मत कार्य शुरू कर देंगे।

इस संबंध में निगम प्रशासक अमरनाथ चटर्जी से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि समाज में सामाजिक कार्य करने की बहुत जगह है। वे सामाजिक कार्य करता है तो बहुत ही अच्छी बात है। सामाजिक कार्य करें। मां घाघरबुढ़ी मंदिर के मरम्मत कार्य के लिए निगम के अभियंता जांच करने गए थे। जांच की रिपोर्ट निगम में जमा कर दिया गया है। इसे लेकर बजट भी तैयार कर लिया गया है। बहुत जल्द निगम की ओर से मां घाघरबुढ़ी मंदिर का मरम्मत कार्य शुरू किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *