ASANSOL में उद्योगों को भेजा जा रहा 3 साल पुराना बिल, डीएम से जताई आपत्ति

बंगाल मिरर, आसनसोल । ASANSOL में उद्योगों को भेजा जा रहा 3 साल पुराना बिल, डीएम से जताई आपत्ति। मंगलवार को एडीडीए के कांफ्रेंस हॉल में जिला शासक अरुण प्रसाद के अध्यक्षता में विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक हुई। इस बैठक में बिजली के बकाया बिल को लेकर चर्चा की गई।

इस संदर्भ में वाणिज्यिक संगठनों के प्रतिनिधियों का कहना था कि उनको 2014-15 और 2015-16 वित्तीय वर्ष के लिए ज्यादा पैसे लिए गए थे जो उनको वापस मिलने चाहिए ।लेकिन अभी उनसे बिजली बिल के नाम पर बकाया पैसे देने की बात कही जा रही है। इस पर विभिन्न वाणिज्यिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने ऐतराज जताते हुए कहा कि जब उन्होंने दो वित्तीय वर्षों में ज्यादा पैसा दे दिया है तो पहले उनको उनका पैसा वापस मिलना चाहिए। इसके बाद भी अगर उन पर बकाया पैसा है तो वह वापस करेंगे।

उन्होंने कहा कि इंडिया पावर के साथ उनका जो बकाया था। वह 2020 में खत्म हो गया। लेकिन अब अचानक डीवीसी द्वारा जो बिल का टैरिफ है। उसके मुताबिक उनसे पैसे मांगे जा रहे है। इसे लेकर विभिन्न उद्योगपतियों को बिल भी भेजा गया है। लेकिन इन वाणिज्यिक संगठनों के प्रतिनिधियों का कहना था कि उनका बकाया इंडिया पावर के साथ हुआ था। वह डीवीसी द्वारा निर्धारित टैरिफ के हिसाब से पैसे क्यों देंगे। जब तक उनको उनका बकाया नहीं मिलता तब तक वह पैसे वापस नहीं करेंगे। इसे लेकर मंगलवार जिला शासक के साथ एक बैठक हुई जिला शासक ने उनकी बातों को सुना और वाणिज्य के संगठनों के प्रतिनिधियों ने आशा जताई कि बहुत जल्द समस्या का समाधान निकाल लिया जाएगा

इस बैठक में एडीएम डॉक्टर अभिजीत से वाले फेडरेशन ऑफ साउथ बंगाल चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के महासचिव सचिन राय पवन गुटगुटिया विनोद गुप्ता रानीगंज की आरपी चौधरी समेत आसनसोल एवं सिलपंचल के विभिन्न हिस्सों के व्यवसायिक संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.