ASANSOLराजनीति

जितेन्द्र-दासू की नजदीकियों से, कहीं और बढ़ रहा दर्द

बंगाल मिरर, आसनसोल ः रविवार को महीनों के बाद टीएमसी जिलाध्यक्ष सह आसनसोल के मेयर जितेन्द्र तिवारी जिला चेयरमैन वी. शिवदासन दासू के साथ उनके कार्यालय में पहुंचे। दोनों के बीच बीते कुछ दिनों में बढ़ रही नजदीकियों के कारण राजनीतिक हलकों चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। लोकसभा चुनाव के बाद से ही जिले में टीएमसी तीन गुटों में बंट गयी थी।

2021 के विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी गयी है। इसके लिए अभी से उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया भी आंतरिक स्तर पर शुरू कर दी गयी है। दीदी ने विधायकों को फिर से टिकट देने की घोषणा कर उन्हें राहत दे दी है। लेकिन आसनसोल के दो सीट जामुड़िया एवं रानीगंज में विरोधी विधायक है। इसलिए यहां उम्मीदवारी को लेकर रस्साकशी होनी तय है। दो सीटों को लेकर ही जिले के नेता अपने-अपने दांवपेंच चल रहे हैं। दासू और जितेन्द्र के बीच दूरियां बढ़ने से पार्टी को भी नुकसान हो रहा था। वहीं इन दोनों के बीच की दूरियों का फायदा कोई तीसरा ले रहा था। लेकिन बीते कुछ सप्ताह से देखा जा रहा है कि वह लोग एक-दूसरे साथ कार्यक्रमों में शरीक हो रहे हैं। दोनों ने दो बार संयुक्त प्रेसवार्ता भी की। रानीगंज और जामुड़िया में भी साथ दिखे। वहीं रविवार को जब जितेन्द्र तिवारी महीनों बाद दासू के कार्यालय में पहुंचे तो इस समीकरण को लेकर सवाल उठना लाजमी हो गया है। वहीं इन दोनों की नजदीकियों ने कहीं और दर्द बढ़ा दिया है। हालांकि इस संबंध में जिला चेयरमैन वी. शिवदासन दासू से पूछने पर कहा कि जिलाध्यक्ष जितेन्द्र तिवारी कार्यालय में उनके साथ बैठक करने के लिए आये थे। इस दौरान राजनीतिक कार्यक्रमों पर चर्चा हुयी और विशेष कुछ नहीं।