रानीगंज में पानी की मांग को लेकर प्रदर्शन, सड़क जाम

बंगाल मिरर, रानीगंज : रानीगंज में नपुर कॉलोनी के निवासियों ने पेयजल की मांग पर सड़क जाम कर विरोध किया। उनकी मांग है कि 20 दिनों से पीने का पानी नहीं है। हमें तालाब से पानी लाकर पीना पड़ता है, जिससे हम सब बीमार पड़ रहें हैं। उनका आरोप था की पास के ही बेलुनिया इलाके में पीने का पानी मिल रहा है, जहां के लोगों ने बीजेपी को वोट दिया है। नुपुर इलाके के लोगों को तृणमूल को वोट देकर पीने के पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

बरसात के दिनों में न तो सड़कें हैं, न सीवर हैं, घरों में पानी रिसता है। बल्लवपुर ग्राम पंचायत से बार-बार गुहार लगाने के बावजूद कोई भी कारवाई नहीं हो रही हैं। इसलिए आज मजबूर होकर हम सभी को सड़क जाम करना पड़ा है। मौके पर पुलिस पहुंची उन्हें भी लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। पुलिस ने लोगों को आश्वासन दिया की जल्द पेयजल की समस्या से निपट लिया जायेगा। आश्वासन मिलने के बाद लोगों ने प्रदर्शन समाप्त कर दिया।

बोरो अधिकारी ने बताया की हाल ही में आई आपदा से पानी की पाइप लाइन को काफी नुकसान हुआ है, नतीजतन, रानीगंज शहर के पानी के लिए पीने के पानी की समस्या बन गई है। ग्राम पंचायत के प्रधान एवं तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विधान मंडल के मध्यस्था से आंदोलन समाप्त की गई। स्थानीय बाशिंदों का कहना है कि इस अंचल में दो नलकूप है जो काफी दिनों से खराब है। नियमित मिलने वाली पानी पिछले 15 दिनों से अनियमित है। पूजा त्यौहार का समय है। लेकिन प्रशासन की ओर से यहां की समस्या को नजरअंदाज की गई। तब हम लोगों ने आज आंदोलन पर उतर गए। यह आंदोलन सुबह लगभग 9:00 बजे से 10:00 बजे तक चला। यहां के प्रधान सीधान मंडल ने आंदोलनकारियों के मांग को लेकर कार्रवाई शुरू की और तत्काल पानी की टैंकर की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि जब तक व्यवस्था नहीं होगी टैंकर के माध्यम से यहां पानी दी जाएगी।

https://bengalmirrorthinkpositive.com/2021/10/17/দুর্গাপুরে-বোমাবাজি-গাড/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *