National

Budget 2023 : जानें कौन हैं वित्त मंत्री की टीम के छह चाणक्य, जो बना रहे हैं आम आदमी का बजट


वित्त वर्ष 2023-24 के लिए केंद्रीय बजट पेश हाने में अब कुछ दिन बाकी है। यह बजट मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट होगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को संसद में बजट पेश करेंगी। बजट तैयार करने में वित्त मंत्री की सहायता कई अधिकारी करते हैं, जिनके कंधों पर बजट से संबंधित अलग-अलग जिम्मेदारियां होती हैं। इस बार वित्त मंत्री की कोर टीम में छह सदस्य हैं, जो वित्त वर्ष 2023-24 का केंद्रीय बजट तैयार कर रहे हैं।

सबकी निगाहें आम बजट पर टिकी
अगामी केंद्रीय बजट से आम आदमी से लेकर उद्योग जगत को भी कई उम्मीदें हैं। कोरोना महामारी के बाद भारत की घरेलू अर्थव्यवस्था की हालत दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले बेहतर है। फिलहाल भारतीय अर्थव्यवस्था G20 देशों में सबसे तेजी से बढ़ने वाली इकोनॉमी है। घरेलू बाजार में महंगाई में गिरावट जारी है। इससे रिजर्व बैंक के नीतिगत ब्याज दर में बढ़ोतरी थम सकती है। हलवा सेरेमनी के बाद इसकी छपाई की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। हालांकि, इस बार का बजट पूरी तरह पेपरलेस होगा। बजट बनाने की प्रक्रिया कई महीने पहले से शुरू हो जाती है। इस बार उनके सामने देश की इकोनॉमी की रिकवरी तेज करने, कर्ज के बोझ में कमी लाने, मध्यम वर्ग को राहत देने और राजकोषीय घाटा कम करने जैसी बड़ी चुनौतियां हैं।

वित्त मंत्री की टीम के चाणक्य

टीवी सोमनाथन (वित्त सचिव)
प्रभावशाली नौकरशाह माने जाने वाले टीवी सोमनाथ इस समय वित्त सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। वित्त मंत्रालय में व्यय विभाग की जिम्मेदारी इनके पास है। वित्त सचिव मंत्रालय के विभिन्न विभागों के काम-काज में समन्वय बनाये रखता है। अर्थशास्त्र में पीएचडी टीवी सोमनाथन 1987 बैच के तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।

अजय सेठ (आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव)
आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव अजय सेठ बजट तैयार करने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव होने के नाते बजट से संबंधित सभी सलाह और सिफारिशों का विश्लेषण करने और वित्तीय विवरण को अंतिम रूप देने वाले बजट डिविजन की जिम्मेदारी इन्हीं के पास है। कर्नाटक कैडर के 1987 बैच के आईएएस अधिकारी अजय सेठ की वित्त मंत्रालय में 2021 में आर्थिक मामलों के सचिव के रूप में नियुक्ति हुई थी। बजट से संबंधित सभी सलाह और सिफारिशों का विश्लेषण भी यही कर रहे हैं।

तुहिन कांत पांडे (निवेश और सार्वजनिक संपत्ति विभाग के सचिव)
तुहिन कांत पांडे निवेश और सार्वजनिक संपत्ति विभाग के सचिव है। केंद्रीय बजट में सरकार के विनिवेश कार्यक्रम को तैयार करने की जिम्मेदारी निवेश और सार्वजनिक संपत्ति विभाग के सचिव तुहिन कांत पांडे निभा रहे हैं। इससे पहले उन्होंने एयर इंडिया के निजीकरण और भारतीय जीवन बीमा निगम का प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। तुहिन कांत पांडे 1987 बैच के ओडिशा कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।


संजय मल्होत्रा (राजस्व विभाग सचिव)
वित्त मंत्रालय में राजस्व सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे संजय मल्होत्रा के सामने अगामी केंद्रीय बजट तैयार करने के दौरान राजस्व का अनुमान तय करने की चुनौती है। मल्होत्रा 1990 बैच के राजस्थान कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।
विवेक जोशी (वित्तीय सेवाओं के सचिव)
वित्त मंत्रालय में वित्तीय सेवाओं के सचिव विवेक जोशी को नॉर्थ ब्लॉक के काम-काज के तरीकों की अच्छी समझ है। विवेक जोशी दो सरकारी बैंकों और लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों के निजीकरण से संबंधित मसौदे को वे ही देख रहे हैं। वित्तीय सेवाओं के सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे जोशी हरियाणा कैडर के 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।

वी अनंत नागेश्वरन (मुख्य आर्थिक सलाहकार)
देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार नागेश्वरन बजट तैयार करने के अलावा 2022-23 का इकोनॉमिक सर्वे तैयार करने की जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं। नागेश्वरन को चालू वित्त वर्ष के बजट के पेश होने से कुछ दिन पहले मुख्य आर्थिक सलाहाकार नियुक्त किया गया था। नागेश्वरन 2019-2021 के बीच प्रधानमंत्री की इकोनॉमिक एडवायजरी काउंसिल के पार्ट-टाइम मेंबर रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *