FEATUREDNational

नई हज यात्रा नीति से मुस्लिम महिलाएं बेहद खुश, PM मोदी को चिट्ठी लिख कर रहीं तारीफ


बंगाल मिरर, विशेष संवाददाता : हज यात्रा नीति में बीते सालों में किए गए बदलाव की सब जगह तारीफ हो रही है। खासतौर से मुस्लिम महिलाएं इस संबंध में पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर उन्हें आशीर्वाद दे रही हैं। दरअसल, हज यात्रा नीति में बदलाव के चलते अब महिलाएं भी बिना पुरुष सहयोगी या ‘मेहरम’ के हज यात्रा कर सकती हैं। 



‘मन की बात’ में PM ने किया जिक्र

यही वजह रही कि पीएम मोदी ने इस बार ‘मन की बात’ के 103वें  एपिसोड में इसका जिक्र किया। इसके लिए पीएम मोदी ने सऊदी सरकार का धन्यवाद भी दिया। सऊदी सरकार का हृदय से आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने बताया कि सऊदी सरकार ने बिना मेहरम के हज यात्रा करने वाली महिलाओं के लिए खास तौर पर एक महिला समन्वयक की नियुक्ति की थी। 

पहले मुस्लिम महिलाओं को बिना मेहरम हज यात्रा की नहीं थी इजाजत 

ज्ञात हो, पहले मुस्लिम महिलाओं को बिना मेहरम के हज यात्रा की इजाजत नहीं थी। इस्लाम में ‘मेहरम’ वह पुरुष होता है, जो महिला का पति या खून के रिश्ते में हो। ऐसे में सरकार द्वारा हज यात्रा नीति में किया गया यह बदलाव बड़ा सकारात्मक माना जा रहा है। 
बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं ने पीएम मोदी को लिखे पत्र 
इस पर मुस्लिम महिलाएं उन्हें चिट्ठी लिखकर अपनी हालिया हज यात्रा की जानकारी भी दे रही हैं। इसमें वे महिलाएं भी शामिल हैं जिन्होंने हज की यात्रा बिना किसी पुरुष सहयोगी या मेहरम के पूरी की है। 

बिना मेहरम 4000 से ज्यादा महिलाओं ने की हज यात्रा 


बिना किसी पुरुष साथी या ‘मेहरम’ के हज यात्रा करने वाली महिलाओं की संख्या 4000 से ज्यादा बताई जा रही है। स्पष्ट है कि नई हज यात्रा नीति से अब ज्यादा से ज्यादा लोगों को हज पर जाने का मौका मिल रहा है खासतौर से उन महिलाओं को जो बिना मेहरम हज यात्रा करने से वंचित रह जाती थीं।

Leave a Reply