ASANSOL

SS Ahluwalia नहीं बता पाये हार का सटीक कारण, फॉल्स वोटिंग का दावा

बंगाल मिरर, आसनसोल : आसनसोल लोकसभा केंद्र से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया ने आज आसनसोल कोर्ट मोड इलाके में स्थित भाजपा पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेस किया। उनके साथ यहां भाजपा जिला अध्यक्ष बप्पा चटर्जी कुर्ते के विधायक डॉ अजय पोद्दार प्रशांत चक्रवर्ती और कृष्णेंदु मुखर्जी भी उपस्थित थे। सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया अपनी हार का सटीक कारण नहीं बता पाये और  न ही किसी को हार के लिए जिम्मेदार ठहाराया। उन्होंने कहा कि  लोकसभा चुनाव यानि लोकतंत्र के महापर्व में भागीदारी के लिए सभी को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि चुनाव की घोषणा जब नहीं हुई थी तब मार्च के महीने में उन्होंने भारत के चुनाव आयोग को पत्र भेजा था जिसमें उन्होंने वर्धमान दुर्गापुर और आसनसोल लोकसभा केंद्र में तकरीबन 1 लाख फर्जी मतदाता होने के सबूत दिया था उन्होंने कहा कि ऐसे कई लोग थे जिनका एक से ज्यादा जगह पर मतदाता सूची में नाम था उन्होंने चुनाव आयोग से ऐसे फर्जी मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटाने की अपील की थी लेकिन जो भी कारण हो ऐसा नहीं हो सका उन्होंने कहा कि टीएमसी ने फर्जी मतदान किया।

हालांकि जब उनसे यह पूछा गया कि मतदान से पहले जब पश्चिम बर्धमन जिले के जिला शासक की अध्यक्षता में कई सर्वदलीय बैठक हुई थी उसे दौरान भाजपा के प्रतिनिधि ने यह सवाल क्यों नहीं उठाया तो सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया ने इसका कोई सीधा जवाब नहीं दिया इसके उपरांत उन्होंने कुछ अपनी योजनाओं के बारे में बताया जो वह चुनाव जीतने पर आसनसोल लोकसभा केंद्र में अमल में लाते  इनमें आसनसोल लोकसभा केंद्र में जो बंद पड़े कारखाने हैं उनको खुलवाना आसनसोल में पानी की समस्या तो दूर करना और धसान प्रभावित इलाकों में परियोजना शुरू करना ताकि यहां पर भु धसान ना हो उन्होंने कहा कि यह सारी परियोजनाएं उनके जेहन में थी इसका ब्लूप्रिंट भी उन्होंने तैयार कर लिया था और अगर उन्हें यहां की जनता का सेवा करने का मौका मिलता तो वह इन सारी परियोजनाओं को अमली जामा जरूर पहनाते। इस पर जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि मतदान से पहले चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कभी इन परियोजनाओं का जिक्र या इस ब्लूप्रिंट का जिक्र क्यों नहीं किया तो सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया ने कहा कि उन्होंने तब शायद ब्लूप्रिंट शब्द का इस्तेमाल भले न किया हो लेकिन उन्होंने हमेशा जीतने के बाद वह क्या करेंगे यह बताया था सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया ने कहा कि अब उनको आशा है कि यहां से टीएमसी के जो प्रत्याशी जीते हैं वह इन परियोजनाओं पर काम करेंगे जिससे कि आसनसोल लोकसभा क्षेत्र का भला होगा 

उन्होंने कहा कि यहां का युवा नौकरी के लिए बाहर जा रहा है ऐसे में धीरे-धीरे वह समय भी आ जाएगा जब यहां पर सिर्फ बुजुर्ग लोग रह जाएंगे ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि यहां के युवा को यहां रोजगार का अवसर मिले उन्होंने कहा कि यह बड़े अफसोस की बात है कि जिस आसनसोल शहर के आसपास दामोदर अजय आदि नदियां हैं वहां के लोगों को पीने के पानी के लिए तरसना पड़ रहा है सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया ने कहा कि अगर वह यहां से चुनाव जीतते तो पानी की समस्या को दूर करने के लिए प्रयास करते यह उनकी प्राथमिकता की सूची में सबसे ऊपर रहती। भाजपा नेता ने इस बात पर संतुष्टि व्यक्त की की बंगाल केके लोकसभा केदो में हिंसा की घटनाएं देखने को मिली कुछ इलाकों में लोगों की जान तक चली गई लेकिन आसनसोल में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ

 हालांकि जब उनसे पूछा गया कि एक तरफ वह कह रहे हैं कि फाल्स वोटिंग हुई दूसरी तरफ वह कह रहे हैं कि हिंसा नहीं हुई इसके लिए स्थानीय प्रशासन की सराहना भी कर रहे हैं तो क्या वह यह कहेंगे कि आसनसोल में फ्री एंड फेयर चुनाव हुआ इस पर भी सुरेंद्र सिंह अहलूवालिया ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया वहीं मतदान के बाद बाराबनी मैं भाजपा कार्यकर्ता के घर पर हमला और उनके परिजनों के साथ मारपीट करने का जो आरोप टीएमसी पर लगाया जा रहा था उसे लेकर भी उन्होंने मीडिया को परामर्श दिया कि ऐसी चीजों को ज्यादा हाइलाइट ना करें तो बेहतर है।

Leave a Reply